UPSC Full Form | यूपीएससी का मतलब क्या होता है?

नमस्कार दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम यूपीएससी के फुल फॉर्म (UPSC Full Form in Hindi) के बारे में बात करेंगे। दोस्तों UPSC का फुल फॉर्म होता है:- Union Public Service Commission,  ”UPSC” को हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग कहा जाता है। क्या आपको मालूम है कि प्रशासनिक सेवा और न्यायिक सेवा में ”UPSC” का क्या भूमिका है।

इसके साथ ही ”UPSC” से सम्बन्धी बहुत सारी प्रश्न आता है। जैसे:- UPSC क्या है? इसका गठन कैसे हुआ? UPSC के अंतर्गत कौन सी परीक्षाएं आती हैं? UPSC का कार्य क्या है? यदि आप एक विद्यार्थी है और आप भी ”UPSC” का तैयारी चाहते हो तो हमारी यह पोस्ट आपके लिए बहुत ही उपयोगी है।

UPSC परीक्षा आवश्यक शैक्षिक योग्यता कितनी होनी चाहिए? साथ में यह भी जानेंगे की साथ में हम जानेंगे UPSC परीक्षा की तैयारी कैसे करें? आप UPSC के माध्यम से अपने करियर को बेहतरीन बना सकते है।

हमारी यह पोस्ट UPSC Full Form उनलोगों के लिए भी उपयोगी होने वाला है जो हमेश कुछ नया सीखना चाहते है। खास तौर पर जो प्रशानिक और न्यायिक व्यवस्था को अच्छी तरह समझाना चाहते है, तो आप हमारी इस पोस्ट UPSC Full Form को ध्यान से पढ़ें।

What Is UPSC (UPSC क्या है?) – UPSC Full Form

UPSC Full Form:- Union Public Service Commission

UPSC Full Form In Hindi:- संघ लोक सेवा आयोग

UPSC क्या है:- UPSC को भारत की सर्वोत्तम केंद्रीय भर्ती संस्था है। UPSC भारतीय संविधान के द्वारा बनाया गया एक निकाय है जो भारत सरकार के लोकसेवा आयोग के पदों की नियुक्ति के लिए परीक्षाओं का संचालन करता है। भारतीय संविधान के भाग 14 के अंदर अनुच्छेद 315 और अनुच्छेद 323 में संघीय लोक सेवा आयोग और राज्यों के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के गठन का नियम बनाया गया है।

UPSC को भारत की सर्वोत्तम केंद्रीय भर्ती लोकसेवा आयोग के पदों की नियुक्ति के लिए परीक्षाओं का आयोजन करता है। इसके माध्यम से सरकार द्वारा कई प्रकार के महत्पूर्ण Competitive Exams का आयोजन किया जाता है। याग भारतीय लोक सेवा व केंद्र लोक सेवा के लिए ”Group A” और ”Group B” अर्थात प्रथम और द्वितीय समूह के लिए नियुक्ति करता है।

UPSC एक राष्ट्रीय स्तर का लोक सेवा आयोग है, इन सभी सेवाओं हेतु UPSC अलग अलग स्तर पर परीक्षाएं आयोजन करता है। जिनमे कुछ प्रमुख परीक्षाएं शामिल है जैसे:- CSE, IAS, IPS, IRS, NDA, NA, IFSE इत्यादि।

Read Also :- ITBP Full Form in Hindi | आईटीबीपी फुल फॉर्म क्या होता है?

History Of UPSC In India In Hindi (भारत में UPSC का इतिहास)

लोक सेवा आयोग का गठन ब्रिटिश शासनकाल वर्ष 1772 में हुआ था। जिसकी शुरुआत वारेन हेस्टिंग्स (Warren Hastings) ने किया था। भारत में आधुनिक लोक सेवा आयोग की शुरुआत वर्ष 1854 में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा किया गया था। इस परीक्षा का आयोजन लंदन में किया जाता था।

इसके बाद वर्ष 1919 में भारतीय शासन विधि में लोक सेवा आयोग का गठन पर विचार किया गया, परन्तु उस समय इस आयोग को किसी कारन से लागू नहीं किया गया। वर्ष 1923 में अंग्रेजी शासक लॉर्ड ली ने लोक  सेवा आयोग की स्थापना करने के लिए ”रोयल कमीशन” बनाया जिसका मुख्य उद्देश्य इस का स्थापना करना था।

01 अक्टूबर 1926 को लोक सेवा आयोग का स्थापना हुआ। इस आयोग की स्थापना का मुख्य उद्देश्य बड़े-बड़े पदों पर अधिकारियों की भर्ती करना था। इस आयोग का पहले अध्यक्ष यूनाइटेड किंगडम के होम सिविल सर्विस के सदस्य ”सर रॉस बार्कर” थे। 26 जनवरी, 1950 को भारत के संविधान लागू होने के साथ, संघीय लोक सेवा आयोग को संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के रूप में मान्यता दी गई

वर्तमान में आईएएस प्रदीप कुमार जोशी को UPSC की नई सचिव के रूप में नियुक्‍त किया गया है।UPSC के सदस्यों की नियुक्ति राष्ट्रपति के द्वारा की जाती हैं। इसमें लोक सेवा आयोग के सदस्य शामिल होते हैं जो सभी अनुभव वाले होते हैं। इनका कार्यकाल 6 वर्ष का होता है।

Work Of UPSC In Hindi (संघ लोक सेवा आयोग का कार्य)

UPSC के कार्य :- भारतीय संविधान के अनुच्छेद 320 के तहत सिविल सेवाओं तथा पदों के लिए भर्ती संबंधी सभी जिम्मेदारियां (UPSC) या आयोग के पास है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 320 के तहत UPSC के कार्य निम्नलिखित है:-

  • संघ की सेवाओं में नियुक्ति के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित करना।
  • साक्षात्कार के माध्यम से चयन द्वारा उम्मीदवारों की सीधी भर्ती।
  • पदोन्नति / प्रतिनियुक्ति / अब्ज़ॉर्प्शन पर कैडर में अधिकारियों की नियुक्ति।
  • सरकार के अधीन सेवाओं और पदों के लिए भर्ती नियमों का निर्धारण और संशोधन।
  • विभिन्न सिविल सेवा या अधिकारियों से संबंधित अनुशासनात्मक मामलों को संभालना कर रखना।
  • भारत के राष्ट्रपति द्वारा आयोग को सौंपे गए किसी भी मामले पर भारत सरकार को सलाह देना।

UPSC Exams List In Hindi (UPSC द्वारा कौन सी परीक्षा आयोजित किया जाता है?)

  • NDA:- National Defence Academy and Naval Academy Examination (राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और नौसेना अकादमी परीक्षा)
  • ISSE:- Indian Statistical Service Examination (भारतीय सांख्यिकी सेवा परीक्षा)
  • IFS:- Indian Forest Service Examination (भारतीय वन सेवा परीक्षा)
  • IES:- Indian Economic Service Examination ( भारतीय आर्थिक सेवा परीक्षा)
  • CGGE:- Combined Geo-Scientist and Geologist Examination (संयुक्त भू-वैज्ञानिक और भूविज्ञानी परीक्षा)
  • CDS:- Combined Defence Services Examination (संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा)
  • ICSE:- Indian Civil Services Examination  For IAS, IPS, IRS etc officers (भारतीय सिविल सेवा परीक्षा)
  • CMS:- Combined Medical Services Examination (संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा)
  • IES:- Indian Engineering Services Examination (भारतीय इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा)
  • SCRA:- Special Class Railway Apprentice Examination (स्पेशल क्लास रेलवे अपरेंटिस परीक्षा)

Various Recruitment Tests for UPSC EPFO, other exams

Qualification For UPSC Exam (UPSC परीक्षा के लिए योग्यता)

UPSC के अलग-अलग परीक्षाए के लिए अलग-अलग योग्यता की आवश्यकता है, जो इस प्रकार है:-

Examination Qualification
National Defence Academy and Naval Academy (NDA) 12th Pass
Indian Statistical Service Examination (ISS) Bachelor’s Degree In Statistics/Mathematical Statistics
Indian Economic Service Examination (IES) Post-Graduate Degree in Economics/Business Economics
Indian Forest Service Examination (IFS) Bachelor’s Degree
Combined Geo-Scientist and Geologist Examination (CGGE) Master’s Degree In Mentioned Subjects
Indian Civil Services Examination (ICSE) for recruitment to IAS, IPS, IRS etc officers Bachelor’s Degree
Combined Medical Services Examination (CMS) MBBS
Indian Engineering Services Examination (IES) Degree in Engineering
Central Armed Police Forces (ACs) Examination Bachelor’s Degree
Combined Defence Services Examination (CDS) Bachelor’s Degree

Age And Attempts For UPSC Exam

Category Maximum age limit Number of attempts
General 32 06
OBC 35 06
SC/ST 37 Unlimited attempts
Disabled defence service personnel 35 09
A person with benchmark disability (Economically weaker section) 42 09
Ex-Servicemen 37 09

UPSC Exam Pattern And Syllabus In Hindi

UPSC Exam Pattern:- यदि आप भी UPSC के द्वारा आयोजित किये जाने वाले परीक्षा में शामिल होना चाहते है तो तो आपको बता दूँ UPSC के द्वारा लगभग 24 प्रकार के ग्रेड ए और ग्रेड बी श्रेणी के लिए परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इसमें IAS सबसे ऊपर का पद होता है। यह परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है, जो कि इस प्रकार रहते हैं:-

प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam):- प्रारंभिक परीक्षा में 200 अंकों का दो अनिवार्य पेपर होता है। पेपर 1 में सामान्य अध्ययन (GS) के प्रश्न शामिल होते हैं। और दूसरा पेपर Aptitude Test का होता है। इन दोनों पेपर के दो-दो घंटे का समय दिया जाता है।

  • इस परीक्षा में उम्मीदवार का आंकलन तर्क और विश्लेषात्मक सवालों के आधार पर किया जाता है।
  • इस परीक्षा के अंक अंतिम अंक के लिए नही गिने जाते है।
  • इस परीक्षा में 2 पेपर होते है जो 200 अंक के और समय अवधि 2 घंटे होती है।
  • इस परीक्षा में सफल उम्मीदवार को ही मुख्य परीक्षा के योग्य माना जाता है।

मुख्य परीक्षा (Mains Exam):- मुख्य परीक्षा में 2 क्वालीफाई पेपर के साथ कुल 9 पेपर होते हैं, जिसमें 7 पेपरों के अंक फाइनल मेरिट में जोड़े जाते हैं। प्रत्येक पेपर 3 घंटे की अवधि का होता है।

Paper Subject Marks
Paper – A

(Qualifying)

उम्मीदवार द्वारा चुने जाने वाले भारतीय भाषा 300
Paper – B

(Qualifying)

English 300
Paper – 1 निबंध (Easy) 250
Paper – 2

(सामान्य अध्ययन-1)

भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व और समाज का इतिहास और भूगोल 250
Paper – 3

(सामान्य अध्ययन-2)

शासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध 250
Paper – 4

(सामान्य अध्ययन-3)

प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन 250
Paper – 5 नैतिकता, अखंडता और एप्टीट्युड 250
Paper – 6 Optional Subject Paper 1 250
Paper – 7 Optional Subject Paper 2 250

साक्षात्कार (Interview):- प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा में सफल होने के बाद अंतिम चरण साक्षात्कार (Interview) होता है। सफल अभियार्थी का साक्षात्कार (Interview) एक टीम के द्वारा लिया जाता है। जिसमे सामान्य प्रश्न के अलावा विषय-वस्तु से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है।

FAQ – UPSC Full Form in Hindi

Q.1 - UPSC में कौन कौन सी पोस्ट होती है?

UPSC की परीक्षा को पास करके आप RAW, IB, CBI, CID, IAS, IPS, IRS, ASP, SP, SP, DIG, IG, ADG, DG, RPF, CISF, NSG, ITBP, BSF जैसे अन्य प्रकार के पोस्ट पर तैनात हो सकते है।

Q.2 - कैसे 12 वीं के बाद संघ लोक सेवा आयोग की तैयारी शुरू करने के लिए?

12 वीं के परीक्षा में उर्तीण होने के बाद आप NDA:- (National Defence Academy and Naval Academy Examination) राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और नौसेना अकादमी परीक्षा की तैयारी शुरू कर सकते है।

Q.3 - यूपीएससी के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

UPSC के अलग-अलग परीक्षाए के लिए अलग-अलग योग्यता की आवश्यकता होती है लेकिन कम से कम परीक्षार्थी को 12 वीं के परीक्षा में उर्तीण होना आवश्यक है। 12 वीं के परीक्षा में उर्तीण होने के बाद NDA की परीक्षा में शामिल हो सकते है।

Q.4 - यूपीएससी में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

UPSC में मुख्य रूप से छः विषय है जो इस प्रर है:- Indian Polity for Civil Services Indian Economy Constitution of India World Geography Ethics, Integrity & Aptitude Central Physical and Human Geography

Conclusion – UPSC Full Form

दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आज के इस पोस्ट (Full form of UPSC in Hindi) कि सभी जानकारी आप सभी को पसंद आया होगा। इस पोस्ट में हमने यूपीएससी (UPSC Full Form) से सम्बंधित सभी प्रश्नों का उत्तर विस्तार से दिया है।

आप सभी से अनुरोध है कि इस पोस्ट UPSC Full Form को ज्यादे से ज्यादे शेयर [Facebook] करें, ताकि सभी व्यक्ति तक इस पोस्ट UPSC Full Form inn Hindi कि जानकारी पहुंचाए। दोस्तों आपलोगों को हमारी इस पोस्ट UPSC Full Form से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताये। धन्यवाद्!!

Spread the love

Leave a Comment