Sorry Shayari | Mafi Shayari | I Am Sorry Shayari

Sorry shayari in hindi for girlfriend, sorry shayari for bf in hindi, sorry shayari for wife in hindi, sorry shayari for gf 2 lines, bf se sorry shayari, maafi shayari in hindi, sorry sms in hindi, sorry shayari 2 line in hindi, sorry shayari for sister in hindi, Breakup Shayari

Sorry Shayari in Hindi

ना तेरी शान कम होती, ना रुतबा ही घटा होता,
जो गुस्से में कहा तुमने वही हँस के कहा होता।

तुम हँसते हो मुझे हँसाने के लिए, तुम रोते हो तो मुझे रुलाने के लिए,
तुम एक बार रूठ कर तो देखो, मर जायेंगे तुम्हें मनाने के लिए।

दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया,
रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया,
हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा,
हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया।

तुम नफरतों के धरने कयामत तक जारी रखो ऐ सनम,
हम मोहब्बत से इस्तीफा मरते दम तक नहीं देंगे।

आप के लिए जीते और आप पे ही मरते हैं,
आप ही हो वो तोहफ़ा जिसे बेइंतहा प्यार करते हैं,
अगर हो गई ग़लती मुझसे तो माफ़ कर दो मुझे,
क्योंकि हम गलतियां जानबूझ कर नहीं करते हैं।

तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी,
तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी न रहेगी,
क्या कहे क्या गुजरेगी इस दिल पर,
जिंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी न रहेगी।

रिश्तों में दूरियां तो आती-जाती रहती हैं,
फिर भी दोस्ती दिलो को मिला देती है,
वो दोस्ती ही क्या जिसमे नाराजगी न हो,
पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना ही लेती है।

खफा होने से पहले खता बता देना,
रुलाने से पहले हँसना सिखा देना,
अगर जाना हो कभी हम से दूर आप को,
तो पहले बिना सांस लिए जीना सिखा देना।

हमसे कोई खता हो जाये तो माफ़ करना,
हम याद न कर पाएं तो माफ़ करना,
दिल से तो हम आपको कभी भूलते नहीं,
पर ये दिल ही रुक जाये तो माफ़ करना।

Sorry Shayari

तुम दुआ हो मेरी सदा के लिए, मैं जिंदा हूँ तुम्हारी दुआ के लिए,
कर लेना लाख शिकवे हमसे, मगर कभी खफा न होना खुदा के लिए।

नाराज क्यूँ होते हो किस बात पे हो रूठे,
अच्छा चलो ये माना तुम सच्चे हम ही झूठे,
कब तक छुपाओगे तुम हमसे हो प्यार करते,
गुस्से का है बहाना दिल में हो हम पे मरते।

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से,
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से,
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले,
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से।

बस एक माफ़ी तौबा कभी जो इससे सताए तुम को,
लो हाथ जुड़े लो कान पकडे अब और कैसे मनाये तुमको,
तुम्हारे आते ही इस नगर से हमें तानाफत सी हो गई,
में शरारत भी कैसे सह लो के छोड़ रही है हवाएँ भी तुमको।

इस दिल को किसी की आहट की आस रहती है,
निगाहों को किसी सूरत की प्यास रहती है,
तेरे बिना जिंदगी में कोई कमी तो नहीं,
फिर भी तेरे बिना जिंदगी उदास रहती है।

बेवफाई वो गुनाह है जिसकी माफ़ी नहीं होती,
जान लेती है इश्क सिर्फ वफ़ा काफी नहीं होती।

अगर मै हद से गुज़र जाऊ तो मुझे माफ़ करना,
तेरे दिल में उत्तर जाऊ तो मुझे माफ़ करना,
रात में तुझे देख के तेरे दीदार के खातिर,
पल भर जो ठहर जाऊ तो मुझे माफ़ करना।

Sorry Shayari For Best Friend in Hindi

sorry shayari in hindi for girlfriend 140 words, sorry shayari love, Feeling Sorry Shayari, Mafi Shayari, Sorry Shayari for GF, Sorry Shayari for BF, Sorry Shayari Images, Sorry Shayari for Husband, Sorry Shayari for Wife, Best Sorry Shayari 2 Lines

Sorry Shayari for Wife

धड़कन बनके जो दिल में समा जाते है,
हर एक पल जिनकी याद में बिताते है।

हमारी दोस्ती की क़ीमत ऐसी है कि इसके बिना,
मेरे जीवन का मूल्य बेकार होगा, मुझे क्षमा करें।

दिन चढ़ा, दिन ढला पर मेरा दिल उदास ही था,
मुझसे कोई बहुत नाराज हैं, इसलिए आज हर पंछी उदास था।

जिंदगी में कुछ रिश्ते ऐसे भी तोड़ने पड़े,
गलती किसी और ने की हाथ हमें जोड़ने पड़े।

आज एक वादा करते हैं तुमसे,
मेरे लिए अब कोई नहीं ज्यादा है तुमसे,
माफ़ कर दो जो रुसवा किया तुमको,
गलती हमारी थी जो खुद से जुदा किया तुमको।

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।

दर्द गैरों को सुनाने की ज़रूरत क्या है,
अपने साथ औरों को रुलाने की ज़रूरत क्या है,
वक्त यूँही कम है मोहब्बत के लिए,
रूठकर वक्त गंवाने की ज़रूरत क्या है।

गलती तो हो गयी है अब क्या मार डालोगे,
माफ़ भी कर दो ऐ सनम, ये गलफहमी कब तक पालोगे।

धड़कन बनके जो दिल में समा गए हैं,
हर एक पल उनकी याद में बिताते हैं,
आंसू निकल आये जब वो याद आ गए,
जान निकल जाती है जब वो रूठ जाते हैं।

हम रूठे भी तो किसके भरोसे रूठें,
कौन है जो आयेगा हमें मनाने के लिए,
हो सकता है तरस आ भी जाये आपको,
पर दिल कहाँ से लायें आपसे रूठ जाने के लिये।

आज मैंने खुद से एक वादा किया है,
माफ़ी मंगुगा तुझसे तुझे रुसवा किया है,
हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ,
अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है।

हाँ माफी की हम करीब होके भी कितने दूर हुए,
पता भी नहीं कुसूर किसका जो इतना मजबूर हुए।

एक जरा सी भूल खता बन गयी,
मेरी वफा ही मेरी सजा बन गयी,
दिल लिया और खेल कर तोड़ दिया उसने,
हमारी जान गयी और उनकी अदा बन गयी।

गुस्सा ना हो तुम हमे मनाना नही आता,
दूर मत जाओ मुझे बुलाना नहीं आता,
आप भूल जाए तो कोई बात नहीं,
हम क्या करें हमें तो भुलाना भी नही आता।

Feeling Sorry Shayari for GF & BF in Hindi

Feeling Sorry Shayari for GF

इश्क की नगरी में माफ़ी नहीं किसी को भी,
इश्क उमर नहीं देखता बस उजाड़ देता है।

ना रखो नाराजगी दिल में, दिल को साफ कर दो,
जिस के बिना लगे खुद को अधुरा, बेहतर है उन्हें माफ कर दो।

हो सकता है हमने आपको कभी रुला दिया,
आपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दिया,
हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में,
क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया।

किसी के दिल में बसना कुछ बुरा तो नहीं,
किसी को दिल में बसाना कोई खता तो नहीं,
गुनाह हो यह ज़माने की नज़र में तो क्या,
ज़माने वाले कोई खुदा तो नहीं।

हम से कोई गिला हो जाए तो सॉरी,
आपको याद ना कर पाए तो सॉरी,
वैसे दिल से आपको भूलेंगे नहीं,
और हमारी धड़कन ही रुक जाए तो सॉरी।

सॉरी कहने का मतलब है कि आपके लिए दिल में प्यार है,
अब जल्दी से हमे माफ़ कर दो ऐ सनम सुना है आप बहुत समझदार हैं।

तेरी यारी हम इस तरह निभाएंगे,
तुम रोज़ रूत जाना हम रोज़ मनायेंगे।

अलग होने और बनाने के लिए क्षमा करें,
आपको लगता है कि मुझे आपकी परवाह नहीं है,
मैं एक तरह से व्यवहार करने का वादा करता हूं,
जो हमारे प्यार की नकल करता है गहरा और सच्चा।

रिश्ता निभाने में थोड़ी सी कर दी बैगरत,
हो सके तो माफ करना दिल से सॉरी।

कभी सपने को भी दिल से लगाया करो,
किसी के ख्वाबों में आया-जाया करो,
जब भी जी हो कि कोई तुम्हें भी मनाये,
बस हमें याद करके रूठ जाया करो।

एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए,
तू आज भी बेखबर है कल की तरह।

गुस्से में कहे शब्द आप वापिस तो नहीं ले सकते,
मगर सॉरी बोलकर किसी की इज्ज़त रख सकते है।

अहंकार दिखाके किसी रिश्ते को तोड़ने से अच्छा है,
कि माफ़ी मांगकर वो रिश्ता निभाया जाये।

शब्दों का जाल कुछ गलत बुन लिया,
पर मेरे दिल में वैसी बात ना थी,
शर्मिंदा हूँ खुद अपने अल्फाजों के लिए,
क्यूंकि खुद से ऐसी उम्मीद ना थी।

भूल से कोई भूल हो गई तो, भूल समझ कर भूल जाना,
अरे भूलना सिर्फ़ भूल को भूल से हमें ना भूल जाना।

दुनिया को हकीकत मेरी पता कुछ भी नही,
इल्जाम हजारों है और खाता कुछ भी नही,
दिल में क्या है ये पढ़ न सकोगे,
सारे पन्ने बिखरे हुए है, और लिखा कुछ भी नही

अगर आपको यह पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करें! और हमे Facebook और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है..!! धन्यवाद

Spread the love

Leave a Comment