On Page SEO क्या है On Page SEO कैसे किया जाता है

दोस्तों अगर आप SEO क्या जानते है तो आपको On Page SEO क्या है (What is On Page SEO in Hindi) इसके बारे में जानते ही होंगे | अगर आप On Page SEO के बारे में नहीं जानते तो कोई टेंशन की बात नहीं | आज के इस आर्टिकल में हम on page seo का ही इनफार्मेशन आप लोगो के साथ शेयर करने वाला हूँ

अगर आप आज के समय ब्लॉग फिल्ड में आना चाहते है या आ चुके है तो आपको seo का ज्ञान रहना बहुत जरुरी है क्योकि seo ही एक हथियार है जिसके मदद से आप अपने ब्लॉग वेबसाइट में ट्रैफिक बढ़ा सकते है और गूगल या दूसरे सर्च इंजन पर रैंक करवा सकते है

ऐसे बहुत से ब्लॉगर होते जिनको seo के बारे में ज्यादा पता नहीं होता है जिसके कारन वो ब्लॉग रैंक नहीं करवा पता है वो ब्लॉग्गिंग करना छोड़ देते है

seo वह technique है जिन्हे ब्लॉगर अपने वेबसाइट के ब्लॉग पोस्ट में अच्छे से करेंगे तो धीरे धीरे आर्टिकल रैंक होना शुरू जायेगा है, अगर आपका आर्टिकल रैंक हो जायेगा तो आपको ट्रैफिक भी मिलना शुरू हो जायेगा |

अगर बात करे SEO का तो SEO दो भाग में विभाजित है जो इस प्रकार है On-Page SEO और Off-Page seo। आसान भाषा में कहा जाये तो On-Page SEO उसे कहा जाता है जो आप अपने वेबसाइट में करते है जैसे की Page Titles, Internal linking, meta tags और descriptions, इत्यादि

तो चलिए आज इस आर्टिकल में हम लोग जानेंगे On-Page SEO क्या होता है और भी On-Page SEO के रिलेटेड पूरी जानकारी आपलोगो के साथ शेयर किया जायेगा | जिसका इस्तेमाल करके आप अपने ब्लॉग को सही तरीके से कर सकते है |

seo वह technique है जिन्हे ब्लॉगर अपने वेबसाइट के ब्लॉग पोस्ट में अच्छे से करेंगे तो धीरे धीरे आर्टिकल रैंक होना शुरू जायेगा है, अगर आपका आर्टिकल रैंक हो जायेगा तो आपको ट्रैफिक भी मिलना शुरू हो जायेगा | अगर बात करे SEO का तो SEO दो भाग में विभाजित है जो इस प्रकार है On-Page SEO और Off-Page सो। आसान भाषा में कहा जाये तो On-Page SEO उसे कहा जाता है जो आप अपने वेबसाइट में करते है जैसे की Page Titles, Internal linking, meta tags और descriptions, इत्यादि तो चलिए आज इस आर्टिकल में हम लोग जानेंगे On-Page SEO क्या होता है और भी On-Page SEO के रिलेटेड पूरी जानकारी आपलोगो के साथ शेयर किया जायेगा | जिसका इस्तेमाल करके आप अपने ब्लॉग को सही तरीके से कर सकते है |

On Page SEO क्या है (What is on page SEO in hindi)

On-page SEO को on-site SEO भी कहा जाता है ये वह तरीके है जिसको हम अपने वेबसाइट या आर्टिकल के अंडर करते है On-page SEO करने का एक ही लक्ष्य होता है की आर्टिकल को कुछ ऐसे सेट किया जाए की वो गूगल के सर्च रैंक में टॉप 10 pages में आये और ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक मिल सके

On-Page SEO करने का हर एक तरीका आपके अंडर रहता है आपके वेबसाइट के एडमिन पैनल में | तो जब कभी भी आर्टिकल लिखे तो seo अच्छे तरीके से करना बहुत महत्वपूर्ण है.

किसी यूजर को किसी वेबसाइट के साथ interact होने में 5 SEC लगता है तो कोशिश करे की आपकी वेबसाइट का इंटरफ़ेस अच्छा हो जिससे उसे का engagement होगी |

On Page SEO कैसे किया जाता है

On-page seo में वो सब techniques शामिल होता है जो आप अपने वेबसाइट में कर सकते है और अपने वेबपेज को SERP में rank करवा सकते है |

SERP में rank करवाने के लिए आपके साइट की page की quality भी अच्छी होनी चाहिए , फिर आप जितना बढ़िया तरीके से आप seo करेंगे आपको उतना ज्यादा ट्रैफिक मिलने का चांस बढ़ जायेगा |

और जब भी आप आर्टिकल लिखने बैठो, उसी समय उसको SEO friendly बनाते जाओ | अगर आप पहले आर्टिकल लिखते हो और बाद में on page SEO करते हो तो आपको ऐसे में ज्यादा समय देना पड़ता है|

अगर हम बात करे On Page SEO tutorial in Hindi के तो इसमें बहुत से अलग अलग टेक्निकल पहलुओं है लेकिन जो निचे दिया गया है वो मुख्य है

  • Headings (H1 – H6)
  • Title Tag
  • URL Structure (seo friendly)
  • Images Alt text 
  • Website Speed
  • Meta Descriptions
  • Internal Links

On page seo technique in hindi

आप इन On Page SEO techniques in Hindi को अपने आर्टिकल में इस्तेमाल करके अच्छे तरीके से On Page SEO कर सकते है |

Headings (H1 – H6) :-

Headings वो tag होता हैं जिसके मदद से हम लोग अपने आर्टिकल का नाम देते है या मैन पॉइंट को दर्शाते है, ये आर्टिकल किस टॉपिक पर है | तो जब भी आप आर्टिकल लिखे तो पहला Heading H1 से शुरू करे

जो की आपके टॉपिक के Relevant हो और आपका Keywords भी h1 टैग में Include रहना चाहिए | वैसे तो WordPress में पहला Heading H1 ही होता है

और कंटेंट को ज्यादा बड़ा ना लिखे बीच बीच में ब्रेक करते रहना चाहिए, और कंटेंट के बीच बीच में subheadings (H2 से लेकर H6) का भी इस्तेमाल करना बहुत जरुरी है लेकिन याद रखे की Keywords का ज्यादा Repeat ना हो |

Title Tag :–

इसका इस्तेमाल करके आप अपने वेबपेज का नाम देते है जो ये show करता है SERPS में clickable point के रूप में | जैसे की जब आप Google में कुछ सर्च करते है और आपके सामने जो खुल कर आता है और ऊपर बड़ा लेटर में दिखाई देता है |

इसका length 60 characters का होता है अगर आप इससे ज्यादा लिखते है तो वो …….. के रूप में दिखेगा

URL Structure (seo friendly) :-

दोस्तों url का महत्व बहुत ज्यादा है तो जब भी कोई आर्टिकल लिखे तो अपने topic और keyword के relevant ही url बनाये । और कोशिश ये भी करना है की url ज्यादा बड़ा ना हो जैसे date या time ना रहे तो ज्यादा फयदा होगा |

उदाहरण के हिसाब से समझते है : https://infowala.co.in/seo-kya-hai/

Images Alt Text :- 

alternative text search engines को आपके वेबपेज में लगा इमेज का information देता है इसका मुख्य रूप से इस्तेमाल इमेज को describe करने के लिए किया जाता है |

तो जब भी इमेज अपलोड करे Alt Text देना ना भूले | कोशिश कीजिये की आपका alt text छोटा हो या फिर अपना keyword ही लिख दिया कीजिये | इससे गूगल के इमेज सर्च में आएगा |

Website Speed :–

वेबसाइट की स्पीड बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होती है अगर आपका कोई विजिटर ज्यादा देर तक रुकेगा नहीं अगर आपका वेबसाइट ओपन नहीं होगा तो कोशिश करे की |

इससे आपके वेबसाइट का bounce rates भी बढ़ जायेगा | तो हमेशा कोशिश करे की आपका वेबसाइट 5sec के अंडर ओपन हो जाये | अगर आपके वेबसाइट का slow-loading होगा तो आपका ranking भी निचे जा सकता है

Meta Descriptions :-

Meta descriptions आपके आर्टिकल का छोटा सा overview होता है, तो Meta descriptions लिखते समय अच्छे से लिखे जो यूजर को पढ़ने के बाद आपके वेबसाइट पर आने के लिए मजबूर हो जाए ।

Meta descriptions सर्च रिजल्ट में Title और URL के निचे रहता है, इसका Length 160 characters तक होता है । अगर आप 160 characters से ज्यादा लिखते है तो वो display पर शो नहीं होगा

Internal Links :-

ये Internal links आपके वेबसाइट का bounce rate काम करने में बहुत ज्यादा मदद करता है और तो विजिटर को भी मदद करता है एक पेज से दूसरे पेज में जाने के लिए |

और इसका दूसरा सबसे बड़ा फयदा ये है की जब आपका कोई एक आर्टिकल अच्छे तरह से रैंक हो गया है और अच्छे ट्रैफिक मिल रहा है तो आप दूसरे पेज को भी लिंक करके ट्रैफिक बड़ा सकते है दूसरे पेज का।

On page seo important topic

Paragraph Lenght :-

दोस्तों जब भी हम लोग आर्टिकल लिखते है तो paragraph का lenght बड़ा कर देते है लेकिन ऐसा करना उसे experince के हिसाब से गलत है, क्यो की यूजर ज्यादा बड़ा paragraph नहीं पढता है, तो हमेशा कोशिश करे की paragraph 2 या 3 लाइन का ही  रखे

इससे आपके वेबसाइट में यूजर engage भी होगा और आपके वेबसाइट का Bounce rate भी कम होगा । इससे एक और फयदा ये हो सकता है की आपको ads लगाने के लिए Space भी मिल जायेगा |

Keywords :-

ये Keywords शब्द सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण शब्द है किसी भी ब्लॉगर के लिए, तो जब भी आप आर्टिकल लिखने का सोचेंगे तो सबसे पहले Keywords research जरूर कर लीजियेगा |

अगर आप Keywords का अच्छे से इस्तेमाल करते है तो आपका साइट रैंक भी होगा और ट्रैफिक भी अच्छा आएगा | Keywords का placement कंटेंट के बीच में करना बहुत जरुरी है

Outbound link :-

जैसे के इसके नाम से ही लग रहा है बाहरी लिंक है, जब भी आप आर्टिकल लिखो तो कम से कम एक Outbound link लगाना बहुत जरुरी है, चाहे तो वो लिंक आपके निचे के related हो या आपका सोशल मीडिया का लिंक हो |

on page seo क्या है आज के इस पोस्ट से आपने क्या सीखा

दोस्तों आज की इस आर्टिकल से आपने सीखा है on page SEO क्या है और इसे कैसे करते हैं और साथ में आपने जाना है की on page SEO करने के लिए आपको अपने on page यानि आप के article में क्या क्या रहना चाहिए

उम्मीद है की आप लोगो को ये आर्टिकल अच्छा और काम का आर्टिकल लगा हो और आपको कुछ नया सिखने को मिला हो । अगर आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और मदद करे |

अगर आपका कोई सुझाव हो मेरे लिए तो कमेंट कर के जरुर बतायें |

Spread the love

1 thought on “On Page SEO क्या है On Page SEO कैसे किया जाता है”

Leave a Comment