Motherboard क्या है और कैसे काम करता है?

मदरबोर्ड क्या है (Motherboard in Hindi) और कंप्यूटर में काम कैसे करता है? यदि आपने कंप्यूटर खोला होगा तो मदरबोर्ड जरुर देखे होंगे जो बहुत सारे Component (Part) को जोड़कर रखता है, आज कल के मदरबोर्ड में Advanced Features जुड़े होता है जिससे कंप्यूटर की काम करने की क्षमता अधिक हो जाता है. तो चलिए आगे जानते है की मदरबोर्ड क्या है और कंप्यूटर में काम कैसे करता है | तो आगे पढ़ते है Motherboard in Hindi

Motherboard क्या है (Motherboard in Hindi)

मदरबोर्ड कंप्यूटर हार्डवेयर का एक ऐसा पार्ट है जिसे पीसी का Backbone का माना जाता है, या अधिक उपयुक्त मदर के रूप में जो सभी पार्ट को एक साथ जोड़े रखता है। और बाहरी उपकरणों को कंप्यूटर से जोड़ने के लिए connectors प्रदान करता है. मदरबोर्ड कंप्यूटर में मुख्य भूमिका अदा करता है जैसे माइक्रोप्रोसेसर चिप को होल्ड करना फिर इससे दूसरे Component जुड़ते है जैसे सीपीयू, रैम, हार्ड डिस्क, Graphic Card इत्यादि. अगर इसके Design की बात की जाये तो यह प्लास्टिक का एक कार्ड होता है जिसपर अल्युमीनियम और कॉपर का परत चढ़ा रहता है.

इसे PCB भी कहते हैं यानि की Printed Circuit Board । यह कंप्यूटर और लैपटॉप के अंदर ही स्थित होते हैं । स्मार्टफोन्स के मदरबोर्ड अलग प्रकार के होते हैं लेकिन सबका काम एक जैसा ही होता है ।

आसान शब्दों में कहें तो :– मदरबोर्ड कंप्यूटर के सभी पार्टस् को एक साथ कनेक्‍ट करता है। सीपीयू, मेमोरी, हार्ड ड्राइव, Graphic Card और अन्य पोर्ट और एक्सपेंशन कार्ड सीधे या केबल के माध्यम से मदरबोर्ड से कनेक्ट होते हैं।

मदरबोर्ड काम कैसे करता है (Functions of Motherboard)

  • Computer में Power Supply का काम :– सबसे पहले पावर कनेक्टर की मदद से बिजली मदरबोर्ड तक पहुँचती है, उसके बाद मदरबोर्ड से जुड़े विभिन्न components को power supply किया जाता है |
  • Processor Socket :– इसमें कंप्यूटर Processor को लगाया जाता है इसे कंप्यूटर का दिमाग माना जाता है |
  • Data Flow को नियंत्रित करना :– मदरबोर्ड से जुड़े सभी components के लिए संचार केंद्र के रूप में कार्य करता है.जिससे बहुत सारे Component जुड़े रहते है. यहाँ पर मदरबोर्ड Data Flow को नियंत्रित करता है जिससे Data आसानी से Send और Receive किया जा सके |
  • BIOS :– मदरबोर्ड ROM (Read Only Memory) को भी hold करता है, जो कि BIOS कंप्यूटर को Boot Up करने के लिए आवश्यक है |
  • Mouse Port :– पीएस को माउस को जोड़ता है।
  • Parallel Port :– प्रिंटर जैसे Devices को जोड़ता है।
  • USB  Ports :– USB उपकरणों से कनेक्शन बनाने का काम करता है।
  • LAN Port :– यह Networking फंक्शन्स को सपोर्ट करता है।

मदरबोर्ड के प्रकार (Types of Motherboard)

AT Motherboard :– AT मदरबोर्ड का पूरा नाम है एडवांस्ड टेक्नोलॉजी मदरबोर्ड और यह 80 के दशक में सबसे ज्यादा पोपुलर मदरबोर्ड होता था । इसमें इंस्टालेशन और अपग्रेड करने में मुश्किल आती थी । AT मदरबोर्ड की लम्बाई 351mm और चौड़ाई 305mm होती थी. Motherboard के इस dimensions के कारण ही इसमें नई drives को स्थापित करना मुश्किल होता था.  इस motherboard को 1980 के दशक में IBM द्वारा बनाया गया था |

ATX Motherboard :–  ATX मदरबोर्ड जिसे एडवांस्ड टेक्नोलॉजी एक्सटेंडेड मदरबोर्ड कहा जाता है, यह पुरानी मदरबोर्ड के मुकाबले में आकार लम्बाई 305 और चौड़ाई 204mm में भी एटीएक्स काफी हद तक छोटी थी. इसके अलावा कई दूसरे महत्वपूर्ण बदलाव भी ATX Motherboard में किये गए थे. लगभग 1990 के दशक में Intel द्वारा ATX Motherboard को प्रस्तुत किया गया.

Mini ITX Motherboard :– इस प्रकार की मदरबोर्ड small form factor वाले computer system में उपयोग की जाती है. Mini ITX का आकार लम्बाई 6.7 और चौड़ाई 6.7 inch होता है, इसमें खास बात यही है की इसमें ग्राफ़िक कार्ड लगाने के लिए नयी टेक्नोलॉजी वाला APG port दिया गया है । इसे 2001 में VIA Technologies द्वारा बनाया था |

ये भी पढ़े

Computer क्या है?

कंप्यूटर की विशेषताएं

Free में Backlink Generate कैसे करे

अगर आपको ये article पसंद आये तो इसे अपने सभी Friends के साथ social media पर share जरुर करें ताकि आपकी वजह से किसी और की मदद हो सके। Motherboard in Hindi

मैं इस पोस्ट से उम्मीद करता हु कि आप अच्छे से समझ गये होंगे कि Motherboard in Hindi, अगर आपके मन मे कोई doubts है तो आप हमें Social Media मे पूछ सकते है| Motherboard in Hindi के बारे में

Instagram, Facebook

2 thoughts on “Motherboard क्या है और कैसे काम करता है?”

  1. Pingback: What is a Motherboard?

Leave a Comment