अल्बर्ट आइंस्टीन से जुडी दिलचस्प जानकारी | Interesting Facts About Albert Einstein

Interesting Facts About Albert Einstein in Hindi :- आज के इस के माध्यम से मैं आप लोगों को विश्व के महान वैज्ञानिकों में अल्बर्ट आइंस्टीन के संक्षिप्त जीवनी, अनसुनी और रोचक बात बताएंगे, जिससे जानकर आप सब आश्चर्यचकित रह जाएंगे। अल्बर्ट आइंस्टीन एक सामान्य व्यक्तित्व वाले सुप्रशिद्ध वैज्ञानिक थे।

Albert Einstein Biography in Hindi :- अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म 14 मार्च 1879 में जर्मनी में वुतटेमबर्ग के यहूदी परिवार में हुआ, उनके पिताजी हरमन आइंस्टीन जो इंजीनियरिंग और सेल्समन का कार्य करते थे। अल्बर्ट आइंस्टीन के माता की नाम पोलिन आइंस्टीन थी। उनके पिता और चाचा ने Elektrotechnische Fabrik J. Einstein & Co. नामक कंपनी का शुरुआत किये थे।

पूरा नाम     –   अल्बर्ट हेर्मन्न आइंस्टीन
जन्म           –   14 मार्च 1879
जन्मस्थान    –   जर्मनी
पिता            –  हेर्मन्न आइंस्टीन
माता            –  पौलीन आइंस्टीन
पत्नी             –  मरिअक (पहली पत्नी), एलिशा लोवेन थाल (दूसरी पत्नी)
शिक्षा           –  ज्युरिच पॉलिटेक्निकल एकेडमी, स्विजरलैंड
कार्य            –   भौतकी (वैज्ञानिक)

Interesting Facts About Albert Einstein in Hindi

Facts About Albert Einstein

  • अल्बर्ट आइंस्टीन के जन्म से समय उनका सिर (Head) सामान्य बच्चों के तुलना में अधिक बड़ा था।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन जन्म के चार साल बाद बोलना शुरू किये थे, कहा जाता है जब वो अपने माता-पिता के साथ खाना खा रहे तब।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन विज्ञान (Science) और गणित (Math) के अलावा सभी विषय में औसतन छात्र थे, जो कई बार असफल रहे या अच्छे मार्क्स नहीं ला पाते थे।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन समुद्री यात्रा करते समय और वायलिन बजाते समय मोजे (Socks) पहनना पसंद नही करते थे।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन ने एक बार कहा था कि जब वे बच्चे थे तब उनके पैर के अंगूठे से मेरे मोजों में छेद हो जाते थे इसलिए मैंने मोजे पहनना ज्यादा पसंद नहीं करते है।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन को बचपन के ही दिनों से विज्ञान में रुचि आने लगा था। जब वो मात्र पांच (Five) वर्ष के थे, तब से घर में रखें Compass के रहस्य को सुलझाने का प्रयत्न करने लगा था।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन की याददाश्त कमजोर थी वह अक्सर अपने घर का पता व फोन नंबर भूल जाते थे।
  • एक समय ऐसा हुआ कि जब प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से अपने घर लौट रहे थे, तब वो अपने घर का रास्ता भटक गए थे, तब उनको जानने वाला टैक्सी ड्राइवर उनको घर छोड़कर आये थे।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन का मानना था कि किसी भी काम को अच्छे से करने के लिए 10 घंटे सोने कि आवश्यकता है।
  • कहा जाता है कि अल्बर्ट आइंस्टीन के व्यस्तता (Busy) होनी के कारन उनकी पहली पत्नी से तलाक हो गया था।
  • टाइम मशीन की कल्पना भी सबसे पहले आइंस्टीन ने ही किया था, और इस विषय पर उन्होंने कई शोध भी किये थे।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन एक अपने सिग्नेचर के लिए 5 डॉलर एक स्पीच के लिए 1000 डॉलर लेते थे, इन पैसे का अधिकांश भाग वो किसी चैरिटी में दान दे दिया करते थे।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन जब विश्वविद्यालय में प्रोफेसर थे, तब एक दिन उनके पास उनका एक छात्र आया और उनसे बोला ” इस साल भी परीक्षा में वही प्रश्न आए हैं जो पिछले साल के परीक्षा में आए थे। इस पर आइंस्टीन ने जवाब दिया हां लेकिन इस साल उन प्रश्नों के उत्तर बदल गए हैं।

Read Also : दुनिया के अद्भुत अनसुलझे रहस्य

  • अल्बर्ट आइंस्टीन ने अपने जीवन काल में सैकड़ों किताबें और लेख प्रकाशित किये, जिसमे 300 से अधिक वैज्ञानिक तथ्य और तर्क पर और 150 से अधिक गैर वैज्ञानिक शोध पर किताबें और लेख प्रकाशित किये थे।
  • वर्ष 1922 में अल्बर्ट आइंस्टीन को नोबेल पुरस्कार उनके थ्योरी ऑफ़ रिलेटिविटी के खोज के लिए नहीं बल्कि फोटोइलेक्ट्रिक इफ़ेक्ट के लिए दिया गया था।
  • वर्ष 1952 में अमरीका ने अल्बर्ट आइंस्टीन को इजराइल का राष्ट्रपति बनने की पेशकश किया था, परन्तु वो इस पेशकश ठुकरा दिया और कहा कि वह राजनीती के लिए नही बने।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन बड़ी-बड़ी और जटिल बातों को याद रख लेते थे, परन्तु क्या आप जानते हैं अक्सर छोटी छोटी बाते वो भूल जाया करते थे। वो अक्सर तारीखें, फोन नंबर, किसी का नाम, घर का पता, इत्यादि भूल जाया करते थे।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन के जन्मदिन 14 मार्च को पूरी दुनिया में Genius Day के रूप में मनाया जाता है।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन अपने पूरे जीवन एक मानसिक रोग ‘Psychiatric Disorder’ से पीड़ित थे।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन की खोज E=mc² के ही फार्मूला के ही माध्यम से बम को अमेरिका ने जापान पर बम गिराया था।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन की खोज E=mc² द्रव्यमान और ऊर्जा के बीच एक समीकरण प्रमाणित किया, जिसको आज के समय में परमाणु ऊर्जा (Nuclear Energy) कहा जाता है।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन दुनिया के 3 देशों नागरिक रह चुके है, जोकि जन्म से लेकर यानि 1879 से लेकर 1901 तक जर्मनी रहे, उसके बाद 1901 से 1932 तक स्विट्ज़रलैंड में, और उसके बाद  1932 से 1955 यानी मृत्यू तक अमेरिका के नागरिक रहे।
  • Thoughts Of Albert Einstein in Hindi
  • एक सफल व्यक्ति बनने का प्रयास मत करो, बल्कि अपने सिद्धांत और मूल्यों पर चलने का प्रयास करें।
  • जो व्यक्ति कभी गलती नहीं किया है, वो कभी नया सीखने का प्रयास ही नहीं किया है।
  • वो कहते है सभी व्यक्ति और प्राणी अपने आप में 100% जीनियस है, लेकिन उसमे से अधिकांश उसे करना नहीं चाहते है और न ही समझाना चाहते है।
  • एक बार आइंस्टीन से किसी ने पूछ लिया की सापेक्षता क्या है? तो उन्होंने बहुत ही सरल जबाब दिया और कहा यदि आप एक अच्छी लड़की के साथ बैठे हों तो एक घंटा एक सेकंड के सामान लगता है। जब आप धधकते अंगारे पर बैठे हों तो एक सेकंड एक घंटे के सामान लगता है। यही सापेक्षता है।
  • क्रोध हमेशा ही मुर्ख और कमजोर के के ही पास रहता है।
  • यदि मानव को अनन्तकाल तक जीवित रहना है, तो उसे अपने लिए और आनेवाले पीढ़ी के लिए नई अविष्कार और नई सोच उत्पन्न करना होगा।
  • सभी इंसान को अपने अपने कार्य कुलशलता के ही आधार पर काम करना चाहिए, जिसमे वो सबसे बेहतरीन कर सकें।
  • किसी भी समस्या का समाधान उस स्तर पर रह कर नहीं किया जा सकता है, उसके लिए आपको कुछ अलग सोच के साथ काम करना होगा।
  • बीते हुए कल से सीखना, आज में जीना, कल के लिए आशा रखना जीवन का सबसे महत्पूर्ण बात है।
  • मूर्खता और बुद्धिमता में यह फर्क है की बुद्धिमता की एक सीमा होती है, लेकिन मूर्खता की कोई सीमा नहीं होती है।
  • यदि आप किसी कार्य को करने के सारे नियम जानते हैं, तो आप उस कार्य को किसी से भी बेहतर तरीके से कर सकते हैं।

Read Also :- आँखों के बारे में हैरान कर देने वाली जानकारी

FAQ – Facts About Albert Einstein

Q.1 - आइंस्टीन की मृत्यु कब हुई थी?

अल्बर्ट आइंस्टीन 18 अप्रैल 1955 में अमेरिका में इस दुनिया को अलविदा कह दिए, लेकिन उनके द्वारा किये गए अविष्कार और विचार आज भी विज्ञान के क्षेत्र में काफी महत्पूर्ण है।

Q.2 - आइंस्टीन ने सापेक्षता का सिद्धांत कब दिया?

वर्ष 1905 में जब अल्बर्ट आइंस्टीन मात्र 26 वर्ष के थे, तब इन्होंने सापेक्षता का सिद्धांत दिया था। उस समाय वो ज्यूरिख यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर थे। सापेक्ष का सिद्धांत E=mc² द्रव्यमान और ऊर्जा के बीच एक समीकरण प्रमाणित किया, जिसको आज के समय में परमाणु ऊर्जा (Nuclear Energy) कहा जाता है। इसी सिद्धांत से एटम बम का निर्माण किया गया है।

Q.3 - अल्बर्ट आइंस्टीन का दिमाग कितना काम करता था?

एक शोध के अनुसार अल्बर्ट आइंस्टीन के दिमाग का 85% भाग सामान्य मनुष्य से मिलता-जुलता था। अल्बर्ट आइंस्टीन के दिमाग का वजन 1230 ग्राम ही था, जोकि सामान्य मनुष्य के बराबर था।

Q.4 - आइंस्टीन ने कौन सा सिद्धांत दिया?

अल्बर्ट आइंस्टीन के सबसे प्रमुख सिद्धांत सापेक्ष का सिद्धांत (Theory of Relativity) था। Theory of Relativity Formula - E=mc² का मतलब ''energy equals mass times the speed of light square'' होता है।

Conclusion – Interesting Facts About Albert Einstein

दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि हमारी इस पोस्ट Amazing Facts About Albert Einstein in Hindi की जानकारी आप सभी को पसंद आया होगा। दोस्तों आप सभी से अनुरोध है की इस पोस्ट Interesting Facts About Albert Einstein in Hindi को अपने दोस्तों, परिवार सोशल मीडिया पर ज्यादा से ज्यादे शेयर करें ताकि इस जानकारी का लाभ सभी व्यक्ति उठा सके।

दोस्तों अगर आपको हमारी इस पोस्ट Unknown Facts About Albert Einstein in Hindi से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमें करके अवश्य बताइए। हमें सहयोग, सपोर्ट और लेटेस्ट अपडेट के लिए अवश्य हमारे सोशल मीडिया अकाउंट को Follow [Facebook] कीजिये| धन्यवाद् !!

Spread the love

Leave a Comment