चावल (Rice) मिल का बिजनेस कैसे शुरू करें 2022 में | How To Start Rice Mill Business

नमस्कार दोस्तों आज मैं आपके लिए एक नई बिज़नेस आईडिया लेकर आया हूँ। दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे How To Start Rice Mill Business. हमारे देश के अधिकांश हिस्से के लोग चावल खाना काफी पसंद करते है। एक सर्वे के अनुसार भारत के 68% लोग चावल खाना पसंद करते है।

भारत समेत अन्य देशों के लोग भी चावल खाना पसंद करते है, बहुत सारे देशों में हमारे ही देश भारत से चावल की निर्यात (Export) किया जाता है। क्यों न आप भी Rice Mill Business Start करके अच्छी कमाई करने की जरिया बना सकते है। हमारे देश में Rice Mill Business Start ज्यादा कठिन नहीं है, क्योंकि हमारा देश कृषि प्रधान देश है, और अधिकांश किसान  धान की खेती करते है।

चीन के बाद भारत चावल उत्पादन करने में विश्व के शीर्षों देशों में दूसरे स्थान पर है। चीन प्रति वर्ष 211,090,813 टन उत्पादन मात्रा के साथ दुनिया का सबसे बड़ा चावल उत्पादक देश है, वहीं भारत 158,756,871 टन वार्षिक उत्पादन के साथ दूसरे स्थान पर कायम है।

तो चलिए दोस्तों शुरू करते है, राइस मिल का बिजनेस कैसे शुरू करें

राइस मिल क्या होती है (What is Rice Mill in Hindi)

Rice Mill business

राइस मिल बिज़नेस में धान से चावल बनाने की प्रक्रिया को पूरा किया जाता है। जैसा की हम सभी जानते है कि धान चावल का रॉ मटेरियल है, इसकी वास्तविक अवस्था को हम मनुष्यों के द्वारा सेवन नहीं किया जा सकता है। धान से चावल बनाने के लिए जिस विशेष मशीन और उपकरण का उपयोग किया जाता है, उसे राइस मिल कहा जाता है।

राइस मिल में धान को अलग-अलग प्रक्रिया के माध्यम से चावल के वास्तविक रूप दिया जाता है। Rice Mill Business की मांग को देखते हुए आप भी इस बिज़नेस को शुरू करके अच्छी कमाई कर सकते है। राइस मिल का बिजनेस शुरू करने के लिए बहुत कम रॉ मटेरियल की आवश्यकता होती है, जो आसानी से मिल जाता है।

Read Also :- पास्ता बनाने का व्यापर कैसे शुरू करें

राइस मिल का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How To Start Rice Mill Business)

दोस्तों राइस मिल बिज़नेस स्थापित करने के लिए, आपको इससे जुड़े हरेक पहलू को ध्यान में रखना होगा। जिसमे आपको बिज़नेस प्लान, लोकेशन, मार्केटिंग, कस्टमर, इत्यादि के बारे में गहरी रिसर्च करने की आवश्यकता है। आप अपनी रिसर्च के आधार पर Rice Mill Business Plan तैयार कर लें।
Note:- भारत में सबसे ज्यादा बासमती चावल का उत्पादन होता है। बासमती चावल के अलग-अलग किस्मों को संयुक्त अरब अमीरात, कुवैत, ईराक, ईरान, सऊदी अरब, आदि देशों  में निर्यात किया जाता है।

राइस मिल बिज़नेस शुरू करने के लिए आप निम्न बातों को ध्यान में रखकर कार्य करें:-

  • Business Plan
  • Market Research
  • Raw Material
  • Machinery & Equipment
  • Process
  • Location
  • Licence & Registration
  • Investment
  • Marketing

Read Also :- प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस कैसे शुरू करें

राइस मिल बिज़नेस प्लान (Rice Mill Business Plan)

किसी भी बिज़नेस की सफलता का अनुमान उसकी बिज़नेस प्लान को देखकर लगाया जा सकता है, इसलिए आप भी राइस मिल का बिजनेस शुरू करने से पहले एक अच्छी और ठोस  बिज़नेस प्लान तैयार करें। आपका बिज़नेस प्लान ही आपके बिज़नेस को सफल बनाने में अहम भूमिका निभाता है।

Rice Mill Business Plan तैयार करने में आपको हमारी यह पोस्ट How To Start Rice Mill Business काफी मदद करेगा, साथ ही आप अनुभवी और जानकर व्यक्तियों के मदद से राइस मिल बिज़नेस प्लान तैयार सकते है। यदि आप इस बिज़नेस से बिल्कुल अनजान है, तो आप इस बिज़नेस को शुरू करने से पहले प्रशिक्षण (Training) अवश्य ले लें।

Market Research For Rice Mill Business

यदि आप अपने बिज़नेस को सफल बनाना चाहते है, तो आप आस-पास और बिज़नेस से सम्बंधित मार्केट और एरिया का रिसर्च अवश्य कर लें। मार्केट और एरिया के रिसर्च से आप बिज़नेस से जुड़ी अलग-अलग प्रकार के समस्या और समाधान के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। जिससे आप अपने बिज़नेस में आने समस्या का समाधान करने में सक्षम हो पाएंगे।

मार्केट और एरिया रिसर्च में आप निम्न बातों पर ध्यान दे सकते है:-

  • Competitor Analyse
  • Market or Customer Demand Analyse
  • Wholesale & Retail Market Analyse
  • Price Analyse
  • Management Analyse
  • Transporting Analyse
  • etc

चावल बनाने के लिए कच्चा सामग्री (Raw Material Rice Manufacturing Business)

दोस्तों चावल उत्पादन (Rice Manufacturing Business) शुरू करने के लिए मुख्य रूप से रॉ मटेरियल के रूप में धान की आवश्यकता होती है। आपके जानकारी के लिए बता दूँ कि भारत में सबसे ज्यादा धान (Paddy) उत्पादन करने वाला राज्य पश्चिम बंगाल है। इसके साथ ही भारत के कुछ अलग-अलग हिस्सों में भी धन का उत्पादन होता है जैसे:- उत्तर प्रदेश, पंजाब, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, उड़ीसा, इत्यादि।

देश में कुल चावल उत्पादन का लगभग 66% उत्पादन उपरोक्त राज्यों में ही किया जाता है बाकी 33% उत्पादन अन्य राज्यों में भी किया जाता है। चावल बनाने के लिए आप रॉ मटेरियल सीधे किसान या मंडियों से भी खरीद सकते है। आप Rice Mill Plant उस स्थान पर स्थापित करें, जहां आपको रॉ मटेरियल आसानी से मिल सकें।

Rice Making Machine & Equipment

  • Grading Machine
  • Grain Dryer
  • Lighting Equipment
  • Measure and Packing Machine
  • Paddy Husker Machine
  • Paddy Separator Machine:
  • Rice Cleaning Machine
  • Rice Sorter
  • Rice De-stoner Machine
  • Rice Milling Detection Machine
  • Rice Polishing Machine
  • Rice Whitener Machine

यदि हम इन सभी Rice Making Machine Price की बात करें तो यह सभी मशीन और उपकरण अलग-अलग कीमतों पर आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन के माध्यम से आसानी से मिल जाएगा।

चावल उत्पादन की प्रक्रिया (Rice Manufacturing Process)

मुख्य रूप से चावल दो प्रकार के होते  है, पहला पका चावल और कच्चा चावल, कच्चा चावल सीधे धन से छिलका हटाकर प्राप्त किया जाता है। वहीं अगर पक्के हुए चावल की बात करें, तो धान को उबालकर और सूखने के बाद छिलका हटाकर प्राप्त किया जाता है। कच्चे चावल और पक्के चावल की उत्पादन की प्रक्रिया में बहुत ही कम अंतर है।

खेत से धान की फसल आने के बाद उसे कई प्रक्रियाओं से गुजारा जाता है, तब जाकर चावल बाजार में बिकने और हम मनुष्यों के खाने लायक तैयार होता है, तो आइयें दोस्तों धान से चावल बनाने की प्रक्रिया को जानते है:-

  • सबसे पहले धान को क्लीनिंग मशीन की मदद से धान को साफ किया जाता है।
  • इसके बाद De-Stoning Machine की मदद से धान में मौजूद छोटे-छोटे कंकड़-पत्थर और अन्य सामग्री को अलग किया जाता है।
  • इसके बाद हस्किंग मशीन की मदद से धान की ऊपरी परत (छिलका) को हटाया जाया है।
  • इसके बाद व्हिटेनिंग मशीन की मदद से ब्राउन राइस की परत और अवशिष्ट हिस्सों को अलग किया जाता है,
  • इसके बाद पॉलिशिंग  मशीन की मदद से चावल को पोलिश किया जाता है, जिससे चावल अधिक समय तक सुरक्षित और सुन्दर रहें।
  • इसके बाद सेपरेटर मशीन की मदद से चावल के छोटे और बड़े दानो को अलग किया जाता है।
  • इसके बाद चावल को पैकिंग करके मार्केट में बेचने के लिए तैयार किया जाता है।

राइस मिल बिज़नेस के लिए स्थान का चयन (Location For Rice Mill Business Startup)

राइस मिल बिज़नेस शुरू करने के लिए स्थान चयन करते समय सभी प्रकार की मूलभूत जरूरतों को ध्यान रखें, जैसे :- बिजली, पानी, सड़क, इत्यादि। राइस मिल का बिजनेस शुरू करने के लिए ऐसे स्थान का चयन करें, जहां किराया कम लगें और आपको वहां से अपने प्रोडक्ट को आयत-निर्यात में किसी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए।

राइस मिल बिज़नेस के लिए लाइसेंस एवं पंजीयन (License & Registration For Rice Mill Business)

  • Firm Registration
  • Company Registration
  • MSME/SSI Registration
  • FSSAI Licence
  • Health Trade Licence
  • Trademark Licence
  • GST/TIN Number
  • Import & Export Code
  • Trade Licence From Local Authority

Documents For Rice Mill Business License & Registration

  • ID Proof :- Aadhar Card, Voter Card, Pan Card, Passport, etc
  • Address  Proof :- Ration Card, Electricity Bill, Residence Certificate, etc
  • Bank Account With Passbook
  • Photo, Phone Number, Email ID
  • Other Documents

राइस मिल बिज़नेस शुरू करने में कुल लागत (Total Investment in Rice Mill Business)

यदि राइस मिल बिज़नेस शुरू करने में लागत की बात किया जाए, तो इस बिज़नेस को शुरू करने में 15 से 20 लाख तक निवेश की आवश्यकता हो सकती है। आप सोच रहें होंगे इतनी बड़ी रकम एक बार में कहाँ से आएगा, तो मैं आपके जानकरी के लिए बता दूँ कि इसके लिए आप भारत सरकार के प्रधानमंत्री एम्प्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (PMEGP) के तहत 10 लाख से लेकर 25 लाख तक ऋण (Loan) लें सकते है।

यदि आप बेरोजगार है और राइस मिल बिज़नेस शुरू करना चाहते है, तो इसके लिए आपको कुल लागत के 10% खुद वहन करना पड़ता है और 90% सरकार लोन के रूप में मुहैया कराती है। इसके साथ ही यदि आप ग्रामीण क्षेत्र से है, तो सरकार आपको 25% तक सब्सिडी देता है, वहीं अगर आप शहरी क्षेत्र से है, तो आपको 15% तक सब्सिडी दिया जाता है।

Note:- OBC, SC, ST जैसे आरक्षित वर्गों के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 35% और शहरी क्षेत्रों के लिए 25% तक सब्सिडी दिया जाता है, साथ इस कुल लागत के 5% खुद वहन करना पड़ता है और 95% सरकार लोन के रूप में मुहैया कराती है।

Marketing Plan For Rice Business in Hindi

आपको मार्केटिंग प्लान तैयार करना बहुत जरुरी है। इस प्लान में आप विज्ञापन (Advertisement), प्रोडक्ट सेल, ग्राहक को अपने प्रोडक्ट के प्रति आकर्षित करना, इत्यादि को शामिल कर सकते है। आप अपना प्रोडक्ट सेल करने के लिए निम्न तरीका अपना सकते है:-

  • E-Commerce Website
  • Brand Promoting
  • Online Marketing
  • Social Media Advertisement
  • Offline Advertisement
  • Local Marketing

Conclusion

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमने राइस मिल बिजनेस कैसे शुरू करें? How To Start Rice Mill Business की जानकारी विस्तार से दिया हूँ, उम्मीद करता हूँ यह पोस्ट आपको Rice Mill Business Start करने में काफी मदद करेगा। दोस्तों आप इस पोस्ट राइस मिल का बिजनेस कैसे शुरू करें को ज्यादे से ज्यादे शेयर करें, ताकि सभी इच्छुक व्यक्ति इस पोस्ट मदद से Rice Mill Business Start कर सकें।

दोस्तों आपको हमारी इस पोस्ट राइस मिल का बिजनेस कैसे शुरू करें से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव है, तो आप हमें कमेंट करके अवश्य बताए। दोस्तों यदि आप कोई दूसरा बिज़नेस शुरू करना चाहते है, तो आप उस बिज़नेस का नाम अवश्य बताए, ताकि हम अगली पोस्ट में उससे सम्बंधित जानकारी मुहैया करा सकें। धन्यवाद्!!

Spread the love

Leave a Comment