प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस कैसे शुरू करें | How to start Printing Press Business

How to start Printing Press Business in Hindi :- प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस बहुत ही तेजी से आगे बढ़ रहा है। यदि आप भी बिज़नेस करने की इच्छुक है तो आप प्रिंटिंग प्रेस का बिज़नेस शुरू करके अच्छी कमाई कर सकते है। आजकल लोग सूचना, समारोह और किसी विशेष सन्देश पहुंचाने के लिए प्रिंट किए हुए पेपर्स या और कार्ड का उपयोग करने लगे है।

यदि आप भी ”Printing Press Business” शुरु करना चाहते है तो आप हमारे इस पोस्ट को ध्यान से शुरू से अंत तक जरूर पढ़े। क्योंकि हम इस पोस्ट में प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस शुरू करने के बारे में सभी प्रकार के महत्पूर्ण बातों पर विस्तार से चर्चा करेंगे। जैसे:- प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस कैसे शुरू करें?, प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए बिजनेस के लिए क्या-क्या चाहिए?, प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस शुरू करने में कितना लागत लगेगा? जैसे अनेक महत्पूर्ण प्रश्नों का उत्तर देंगे।

What is Printing  Press Business In Hindi (प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस क्या है?)

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस एक प्रकार की छपाई या मुद्रण का बिज़नेस है। इसका सीधा अर्थ समझे तो आप एक उपकरण के माध्यम से किसी भी प्रकार के वस्तु पर कोई भी डिज़ाइन छाप सकते हो या लिख सकते हो। यह छपाई या लिखाई किसी भी वस्तु जैसे:- पेपर, कार्डबोर्ड बॉक्स, कपड़ो, रबड़, प्लास्टिक इत्यादि पर हो सकता है।

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में हम ग्राहक के मुताबिक बताये गए किसी डिजाईन, लिखाई, रेखाचित्र, फोटो इत्यादि को उनके द्वारा बताये गए वस्तु पर छापकर देते है। जिसके बदले ग्राहक आपको अच्छी-खासी रकम देता है।

Printing Press Business अनेक प्रकार के होते है, जैसे:-

  • Xerox / Photocopy
  • Paper Printing
  • Textile Printing
  • Wallpaper Printing
  • Cardboard Box Printing
  • Flex Printing
  • Hording Printing

इन सभी प्रकार के प्रिटिंग प्रेस बिज़नेस का सिर्फ एक ही उद्देश्य होता है छपाई या मुद्रण करना। इन सभी का कार्य अलग-अलग तरीकों से अलग-अलग वस्तुओं पर किया जाता है।

प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस क्यों शुरू करें?

प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस एक ऐसा बिज़नेस है। जो आपको काम लागत और कम समय में अच्छा मुनाफा देगा। प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस की मांग काफी तेजी बढ़ रहा है। क्योंकि आजकल लोग सभी प्रकार की सूचना, समारोह और किसी विशेष सन्देश पहुंचाने के लिए प्रिंट किए हुए पेपर्स या और कार्ड का उपयोग करने लगे है।

लोग आजकल शादी के लिए इंविटेशन से लेकर रिटायर्मेंट तक के लिए निमंत्रण पत्र भेजने के लिए पेपर्स या और कार्ड छपवाने लगे है। इतना ही नहीं किसी भी प्रकार के प्रचार-प्रसार, फ्लेक्स और बड़ी-बड़ी होर्डिंग के लिए भी प्रिंटिंग प्रेस की मांग बढ़ रहा है। प्रिंटिंग प्रेस के बिज़नेस में कमाई करने का बहुत सारा तरीका है। जो कम मेहनत करके आसानी से कमाया जा सकता है।

इतना ही नहीं दुकानदार,  व्यापारी, कंपनी, शिक्षण संस्थान जैसे अन्य प्रकार के प्रचार-प्रसार के लिए विजिटिंग कार्ड तक छपवाने लगे हैं। जिसमें किसी भी व्यक्ति के काम के बारें में जानकारी मिले और उनसे सम्पर्क कर सके। ऐसे में यदि आप कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आप के लिए प्रिंटिंग प्रेस का बिज़नेस सबसे ज्यादा लाभकारी साबित होगा।

Read Also :- परफ्यूम का बिजनेस करने में कितना लाभ होता है?

How to start Printing Press Business In Hindi (प्रिटिंग प्रेस बिज़नेस कैसे शुरू करें?)

सबसे पहले आप प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस शुरू करने से पहले आप इसके बारे में जानकारी हासिल प्राप्त करने का प्रयास करें। इसके बाद आप एक योजना (Plan) तैयार करें जिसमे आपको ये निर्णय लेना होगा कि आप किस पैमाने पर प्रिंटिंग प्रेस का व्यवसाय चालू करना चाहते है । अगर आप ज्यादा पैसा नहीं लगाना चाहते तो आप इसे छोटे पैमाने पर चालू कर सकते है।

Location

सबसे पहले प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस शुरू करने के लिए एक सही स्थान (Location) का चयन करें, जहां प्रिंटिंग प्रेस से संबंधित मशीन एवं अन्य सामग्री को ठीक प्रकार से रखने के लिए समुचित व्यवस्था हो। आप अपने सुविधा के अनुसार चाहे तो प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस को अपने घर पर भी शुरू कर सकते हो।

इसके अलावा अगर आप बड़े पैमाने पर व्यवसाय को शुरू करना चाहते है तो आपको फिर बाहर रेंट पर दुकान (Shop) लेना होगा और इससे आपकी खर्च भी थोड़ी बहुत बढ़ेगी। यदि आप दुकान (Shop) रेंट पर ले लेंगे तो आपको थोड़ा बहुत फर्नीचर से जुड़े कार्य करना होगा, ताकि आपको और आपके ग्राहक को किसी तरह का परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

How Many Types Of Printing Machine ( प्रिंटिंग मशीन के प्रकार)

प्रिंटिंग मशीन के बहुत सारे प्रकार होता है, लेकिन हम आपको कुछ प्रमुख प्रिंटिंग मशीन का नाम बता रहे है जो निम्न है:-

  • Digital Printers
  • Ink-jet Printers
  • Screen Printers
  • Embossing Machines
  • Flexographic Printing Machine
  • Letterpress Printing Machines
  • Offset Printers
  • Laser printers
  • Wireless Printers
  • 3D Printers
  • Thermographic Printers
  • Electrostatic Printing Machine
  • Pad Printers
  • Rotogravure Printing Machines

Raw Material For Printing Press Business (प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस के लिए कुछ महत्पूर्ण सामान)

प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस के लिए कई प्रकार मेटेरियल की जरुरत हो सकता है। जैसे:- पेपर, कार्डबोर्ड बॉक्स, कपड़ो, रबड़, प्लास्टिक इत्यादि जो कि अलग-अलग साइज के होंगे, एंवलप, बेनर, कैंची, कार्ड के लिए डोरियां इत्यादि की आवश्यकता होगी। इसके अलावा भी कई सारे सामान्य मेटेरियल की आपको जरूरत होगी जिनसे प्रिंट की जाती है।

Machinery & Equipment for Printing Press Business (प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए मशीनरी और उपकरण)

  • कंप्यूटर (Computer)
  • प्रिंटिंग मशीन (Printing Machine)
  • स्केनर (Scanner)
  • फ्लेक्स प्रिंटिंग मशीन (Flex Printing Machine)

Investment For Printing Press Business (प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस शुरू करने में निवेश)

अगर आप प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस को लघु उद्योग के रूप में शुरू करके घर बैठे ही महीने के 30 से 40 हजार तक कमाई करना चाहते है तो आपको इस बिज़नेस में 80 हजार से 1 लाख तक का निवेश (Invest) करना होगा। जिसमे आपको कंप्यूटर, प्रिंटर, स्कैनर इत्यादि सामान मिल जाएगा।

Corel Draw नाम का एक सॉफ्टवेयर आता है। जिसके माध्यम से आप विजिटिंग कार्ड, इंविटेशन कार्ड, पेम्पलेट इत्यादि बना सकते है, और इसे बाद में आप प्रिंट कर सकते है।

अगर आप प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस को बड़े उद्योग के रूप में स्थापित करना चाहते है, और महीने का लाखों कामना चाहते है तो आपको इस बिज़नेस में अधिक निवेश करने की आवश्यकता है। इसके लिए एक बड़ी प्रिंटिंग मशीन, कॉमर्शियल बिजली कनेक्शन, फ्लेक्स प्रिंटिंग और अन्य सामन की जरूरत होता है। जिसमे पांच से सात लाख तक निवेश (Invest) करना पर सकता है।

Licence & Registration

Licence :- आप जिस क्षेत्र (Area) में वह Printing Press Business शुरू करने जा रहा है। उस क्षेत्र (Area) के  नगर निगम, नगर पालिका, महानगरपालिका, ग्राम पंचायत, विकास खंड इत्यादि के ऑफिस में जाकर यह पता लगाए की क्या इस बिज़नेस के लिए आपके क्षेत्र (Area) में किसी प्रकार के कोई लाइसेंस की जरुरत तो नहीं है।

Note :- भारत में सामान्य तौर पर इस प्रकार लघु उद्योग  के लिए (Printing Press Business) शुरू करने के लिए लाइसेंस की जरुरत नहीं होता है। लेकिन आप Printing Press का ही बिज़नेस बड़े पैमाने पर शुरू करना चाहते है तो उसके लिए आप निश्चित तौर पर लाइसेंस बनवा लें। जिससे आपको बाद में किसी प्रकार के परेशानी नहीं हो।

Registration :- अगर आप चाहते हैं कि आपके Printing Press बिज़नेस का नाम भविष्य में किसी अन्य व्यक्ति या कंपनी द्वारा उपयोग में नहीं लाया जाए। इसके लिए आप अपने Printing Press बिज़नेस का पंजीयन (Registration) करवा लें। अपने बिज़नेस का पंजीयन (Registration) के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन कर सकते है।

Advertisement

मुख्य तौर पर Printing Press Business में ज्यादा प्रचार-प्रसार (Advertise) करने की आवश्यकता नहीं हैं, क्योंकि इस बिज़नेस में कम्पटीशन कम है। अगर आप फिर भी प्रचार-प्रसार (Advertise) करने चाहते है तो आपके द्वारा बनाये गए पोस्टर, बैनर, कार्ड तय्यादि पर किसी साइड में छोटे अक्षर में अपने दुकान (Shop) का विवरण के साथ मोबाइल नंबर भी लिखें। इससे आपके प्रचार-प्रसार (Advertise) में खर्च भी नहीं होगा और आपके दुकान (Shop) का प्रचार-प्रसार भी हो जाएगा।

Profit

Printing Press Business में लाभ (Profit) की बायत करें तो यह आपके निवेश (Invest) पर निर्भर करता है। अगर आप अपनर बिज़नेस में 80 हजार से 1 लाख तक का निवेश (Invest) करते है तो आप लगभग महीने के 30 से 40 हजार तक कमाई कर सकते है। वही अगर आपका बिज़नेस बड़ा है और आप उसमे पांच से सात लाख तक निवेश (Invest) निवेश किये है तो आप महीने के लगभग 80 से 85 हजार तक कमाई कर सकते है।

Frequently Asked Questions

Q.1 - भारत में पहला प्रिंटिंग प्रेस कहाँ स्थापित हुआ?

भारत में पहला प्रिंटिंग प्रेस 30 अप्रैल 1556 में सेंट पॉल कॉलेज, गोवा में स्थापित किया गया था। गेस्पर कालेज़ा द्वारा लिखे गये पत्र में पुर्तगाल से लायी जा रही प्रिंटिंग मशीन का जिक्र मिलता है।

Q.2 - प्रिंटिंग प्रेस का काम कैसे किया जाता है?

Corel Draw नाम का एक सॉफ्टवेयर के द्वारा कार्य करता है। जिसके माध्यम से आप विजिटिंग कार्ड, इंविटेशन कार्ड, पेम्पलेट इत्यादि बना सकते है, और इसे बाद में आप प्रिंट कर सकते है

Q.3 - प्रिंटिंग मशीन कितने में आती है?

प्रिंटिंग प्रेस मशीन के अलग-अलग कीमत होता है। वो लेने वाले के ऊपर निर्भर करता है कि वह किस प्रकार का प्रिंटर लेना चाहता है। अगर हम सामान्य प्रिंटर की बात करें तो वह 18 से 30 हजार तक एक अच्छा प्रिंटर मिल जाता है।

Q.4 - भारत में पहली प्रिंटिंग प्रेस कब प्रारम्भ हुई?

भारत में प्रिंटिंग प्रेस लेना का पूरा श्रेय पुर्तगालियों को जाता है। नाश 1556 में इसकी स्थापना हुआ और वर्ष 1557 में कुछ ईसाई पादरियों ने एक पुस्तक छापी गई थी। जो भारत की पहै मुद्रातित पुस्तक था। वर्ष 1684 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने भारत में सम्पूर्ण रूप से प्रिंटिंग प्रेस की स्थापना कर दिया था।


Conclusion

दोस्तों आज के इस पोस्ट हमने Printing Press Business शुरू करने और उसके सभी महत्पूर्ण विषय पर विस्तार से चर्चा किया है जैसे:- प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस क्यों शुरू करें?, प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस क्या है?, प्रिटिंग प्रेस बिज़नेस कैसे शुरू करें?, प्रिंटिंग मशीन के प्रकार, प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए मशीनरी और उपकरण, प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस शुरू करने में निवेश इत्यादि।

दोस्तों आशा करता हूँ मेरा यह पोस्ट पढ़कर अच्छा लगा हो और इसकी जानकरी आपके उपयोगी साबित हुआ होगा। आप सभी से मेरा नम्र निवेदन है कि आप इस पोस्ट को अपने यार दोस्तों आस- पड़ोस और रिश्तेदारों के साथ शेयर करें, ताकि इस जानकारी का लाभ उठा सके। अगर आपको हमारी इस पोस्ट से सम्बंधित कोई सवाल है सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है। धन्यवाद्!!

Spread the love

Leave a Comment