Bewafa Shayari in Hindi | बेवफा शायरी

Bewafa Shayari in Hindi, बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर girlfriend, bewafa shayari in hindi for girlfriend, very sad bewafa shayari in hindi, bewafa shayari in hindi for love, hindi status bewafa shayari, जबरदस्त बेवफाई शायरी, best bewafa shayari in hindi for girlfriend, बेवफा शायरी इन हिंदी 2 लाइन, Sorry Shayari

Bewafa Shayari in Hindi

मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा,
जिन्हें दावा था वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा।

हर पल कुछ सोचते रहने की आदत हो गयी है,
हर आहट पे चौंक जाने की आदत हो गयी है,
तेरे इश्क़ में ऐ बेवफा, हिज्र की रातों के संग,
हमको भी जागते रहने की आदत हो गयी है।

मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ,
मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ,
पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ,
क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ।

instagram post

ठुकरा के उसने मुझे कहा कि मुस्कुराओ, मैं हंस दिया सवाल उसकी ख़ुशी का था,
मैंने खोया वो जो मेरा था ही नहीं, उसने खोया वो जो सिर्फ उसी का था।

अब कैसे बताऊ क्या गुजरती है मेरे दिल पर,
जब किसी और के हाथ तेरे बदन को छुआ करते है,
ये जमाना जालिमो से भरा हुआ है,
ये लोग इतने अच्छे नहीं, जीतने ये दिखा करते है।

Bewafa Shayari

मेरी आँखों से बहने वाला ये आवारा सा आसूँ,
पूछ रहा है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।

पहली मोहब्बत मैं खता कर रहा हूँ,
किसी बेवफा से वफ़ा कर रहा हूँ,
वो ठुकरा दिये तो क्या हुआ खुदा,
तुही मिलादे तुझसे दुआ कर रहा हूँ।

दिल के दरिया में धड़कन की कश्ती है,
ख़्वाबों की दुनिया में यादों की बस्ती है,
मोहब्बत के बाजार में चाहत का सौदा है,
वफ़ा की कीमत से तो बेवफाई सस्ती है।

Read Also :- Emotional Shayari

वफ़ा के नाम से वो अनजान थे,
किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,
हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,
हम खुद ही बेवफा के नामसे बदनाम थे।

ऐ दोस्त कभी ज़िक्र-ए-जुदाई न करना,
मेरे भरोसे को रुस्वा न करना,दिल में
तेरे कोई और बस जाये तो बता देना,
मेरे दिल में रहकर बेवफाई न करना।

उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है।

मेरे फन को तराशा है सभी के नेक इरादों ने,
किसी की बेवफाई ने किसी के झूठे वादों ने।

बहुत अजीब हैं ये मोहब्बत करने वाले,
बेवफाई करो तो रोते हैं और वफा करो तो रुलाते हैं।

बरसों गुजर गए हमने रो कर नहीं देखा,
आँखों में नींद थी मगर सो कर नहीं देखा,
वो क्या जाने दर्द-ए-मोहब्बत क्या है,
जिसने कभी किसी का होकर नहीं देखा।

खुदा करे किसी को मोहब्बत मे जुदाई ना मिले,
कभी भी किसी को इश्क़ में बेवफ़ाई ना मिले।

Read Also :- Breakup Shayari in Hindi

हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला, हमको जो भी मिला बेवफा यार मिला,
अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी, हर कोई मकसद का तलबगार मिला।

जहाँ पर नफरतों के खुरदरे दस्तूर होते हैं,
वहाँ पर प्यार के किस्से बहुत मशहूर होते है,
ये रिश्तों के उजालों में चमकते और बुझते हैं,
कहीं ये अश्क होते हैं कहीं सिन्दूर होते हैं।

मेरे वजूद में काश तू उतर जाए,
मैं देखूं आइना और तू नजर आये,
तू हो सामने और वक्त ठहर जाए,
और ये जिंदगी तुझे यूँ ही देखते हुए गुज़र जाए।

हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,
औरों को तो क्या हमको भी तबाह किया,
पेश किया जब ग़ज़लों में हमने उनकी बेवफ़ाई को,
औरों ने तो क्या उन्होने भी वाह-वाह किया।

जिस किसी को भी चाहो वोह बेवफा हो जाता है,
सर अगर झुकाओ तो सनम खुदा हो जाता है,
जब तक काम आते रहो हमसफ़र कहलाते रहो,
काम निकल जाने पर हमसफ़र कोई दूसरा हो जाता है।

Sad Bewafa Shayari Hindi

Best Bewafa Shayari Photo, New Shayari Bewafa Image, Bewafai Shayari, Latest Shayari Bewafa, Dard Bhari Bewafa Sad Shayari, Bewafa Shayari in Hindi for Love

एक दिन हम भी कफ़न ओढ़ जाएँगे, हर एक रिश्ता इस ज़मीन से तोड़ जाएँगे,
जितना जी चाहे सतालो यारो, एक दिन रुलाते हुए सबको छोड़ जाएँगे।

अगर दुनिया में जीने की चाहत न होती,
तो खुदा ने मोहब्बत बनायी न होती,
इस तरह लोग मरने की आरजू न करते,
अगर मोहब्बत में किसी की बेवफाई न होती।

मैंने कुछ इस तरह से खुद को संभाला है,
तुझे भुलाने को दुनिया का भरम पाला है,
अब किसी से मुहब्बत मैं नहीं कर पाता,
इसी सांचे में एक बेवफा ने मुझे ढाला है।

समझ जाते थे हम उनके दिल की हर बात को और वो हमें हर बार धोखा देते थे,
लेकिन हम भी मजबूर थे दिल के हाथों जो उन्हें बार-बार मौका देते थे।

तेरे दिल की महफिल सजाने आए थे,
तेरी कसम तुझे अपना बनाने आए थे,
ये तो बता किस बात की सजा दी तूने ओ बेवफा,
हम तो तेरे दर्द को अपना दर्द बनाने आए थे।

अपनापन सीखा कर जुदा हो गये,
ना सोचा ना समझा खफा हो गये,
दुनिया में एक बार किसी को हमने अपना कहा,
तो वो भी सब की तरह बेवफा हो गये।

मोहब्बत से रिहा होना ज़रूरी हो गया है,
मेरा तुझसे जुदा होना ज़रूरी हो गया है,
वफ़ा के तजुर्बे करते हुए तो उम्र गुजरी,
ज़रा सा बेवफा होना ज़रूरी हो गया है।

Bewafa Shayari Photo

कुछ वक़्त तन्हाई में बीते, तो कुछ यादें ताज़ा हो गयी,
राह में मिला था कोई साथी, कैसे मुझसे बेवफा हो गयी।

तेरी चौखट से सिर उठाऊं तो बेवफा कहना,
तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,
मेरी वफाओं पे शक है तो खंजर उठा लेना,
मैं शौक से मर ना जाऊं तो बेवफा कहना।

एक दिन जब हुआ प्यार का अहसास उन्हें,
वो सारा दिन आकर हमारे पास रोते रहे,
और हम भी इतने खुद गर्ज़ निकले यारों कि,
आँखे बंद कर के कफ़न में सोते रहे।

Read Also :- Mohabbat Shayari

मिल ही जाएगा कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,
अब शहर का शहर तो बेवफा हो नहीं सकता।

तूने ही लगा दिया इलज़ाम-ए-बेवफाई,
अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी।

काश हम भी होते गालिब की तरह शायरी के बादशाह,
हम भी तुझे रूलाते तेरी बेवफाई के शेर सुना सुना कर।

आप बेवफा होंगे सोचा ही नहीं था,
आप भी कभी खफा होंगे सोचा नहीं था,
जो गीत लिखे थे कभी प्यार में तेरे,
वही गीत रुसवा होंगे सोचा ही नहीं था।

Bewafa Ki Shayari | Bewafa Shayari 2 Line

Bewafa Shayari for Girlfriend, Sad Bewafa Shayari in Hindi, Bewafa Shayari Image Download HD, Dard Bhari Bewafa Shayari, Hindi Bewafai संस, Emotional Shayari on Life in Hindi

जख्मों को हमने खुद ही सिना सीख लिया है, जीते है कैसे हमने जीना सीख लिया है,
अक्सर जो बहते रहते थे आंखों के रास्ते, हमने भी उन अश्कों को पीना सीख लिया है।

उसके चेहरे पर इस क़दर नूर था, कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था,
बेवफा भी नहीं कह सकते उसको ज़ालिम, प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था।

उसे बेवफा कहेंगे तो अपनी ही नजर में गिर जाएंगे हम,
वो प्यार भी अपना था और वो पसंद भी अपनी थी।
Bewafa Shayari Hindi

न पूछ मेरे सब्र की इन्तहां कहाँ तक है,
तू सितम कर ले तेरी हसरत जहाँ तक है,
वफ़ा की उम्मीद जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमे तो देखना है तू बेवफा कहाँ तक है।

प्यार किया था तो प्यार का अंजाम कहाँ मालूम था,
वफ़ा के बदले मिलेगी बेवफाई कहाँ मालूम था,
सोचा था तैर के पार कर लेंगे प्यार के दरिया को,
पर बीच दरिया मिल जायेगा भंवर कहाँ मालूम था।

दिल के दरिया में धड़कन की कश्ती है,
ख़्वाबों की दुनिया में यादों की बस्ती है,
मोहब्बत के बाजार में चाहत का सौदा है,
वफ़ा की कीमत से तो बेवफाई सस्ती है।

2 दिलो की धडकनों में साज होता है,
सभी को अपनी मोहब्बत पर नाज होता है,
प्यार में हर कोई नहीं होता बेवफा,
बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है।

बेवफा सनम का पैगाम आया,
हम भूल जाने का संदेशा लाया,
दिल के उजाले में कुछ अँधेरा सा छाया,
बात निकली जब प्यार की तो बात बात पर रोना आया।

ना रहा कर उदास ऐ दिल किसी बेवफा की याद में,
वो खुश है अपनी दुनिया में तेरा सबकुछ उजाड़ के।

अपना दिल अपनी तबाही का सबक होता है,
यह जवानी का आलम ही अजब होता है,
कौनसी बात ने किसका दिल तोड़ दिया,
बोलने वाले को एहसास ही कब होता है।

दर्द ही सही मेरे इश्क का इनाम तो आया,
खाली ही सही हाथों में जाम तो आया,
मैं हूँ बेवफ़ा सबको बताया उसने यूँ ही,
सही उसके लबों पे मेरा नाम तो आया।

सिर्फ एक ही बात सीखी इन हुस्न वालों से हमने​​,
​हसीन जिसकी जितनी अदा है वो उतना ही बेवफा है।

मेरी निगाहों में बहने वाला ये आवारा से अश्क,
पूछ रहे है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।

गहराई प्यार में हो तो बेवफाई नहीं होती,
सच्चे प्यार में कहीं तन्हाई नहीं होती,
मगर प्यार ज़रा संभल कर करना मेरे दोस्त,
प्यार के ज़ख्म की कोई दवा नहीं होती।

क्या दू सबूत अपनी वफा का इससे बडा,
मैने खुदा से बेवफाई की तुझसे वफा के खातिर।

मेरी वफा के बदले बेवफाई न दिया कर,
मेरी उम्मीद ठुकरा के इन्कार न किया कर,
तेरी मोहब्बत में हम सब कुछ गँवा बैठे,
जान भी चली जायेगी इम्तिहान न लिया कर।

उन्हो ने अपने लबो से लगाया और छोड़ दिया,
वे बोले इतना जहर काफी है तेरी कतरा कतरा मौत के लिए।

उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है।

इंसान के कंधो पर इंसान जा रहा था, कफ़न में लिपटा हुआ अरमान जा रहा था,
जिसे भी मिली बेवफाई मोहब्बत में, वफ़ा कि तलास में शमसान जा रहा था।

एक बेवफा से प्यार का अंजाम देख लो,
मैं खुद ही शर्मशार हूँ उससे गिला नहीं,
अब कह रहे हैं मेरे जनाज़े पे बैठ कर,
यूँ चुप हो जैसे हमसे कोई वास्ता नहीं।

यह ना थी हमारी क़िस्मत, कि विसाल-ए-यार होता,
अगर और जीते रहते, यही इंतज़ार होता,
तेरे वादे पर जाएँ हम, तो यह जान झूठ जाना,
कि ख़ुशी से मर ना जाते, अगर ऐतबार होता।

जिस किसी को टूट कर चाहो बेवफा हो जाता है,
सर अगर झुकाओ तो सनम खुदा हो जाता है,
जब तक काम आते रहोगे, हमसफ़र कहलाओगे,
काम निकल जाने पर हमसफ़र कोई दूसरा हो जाता है।

ना तंग करो, हम सताये हुए है,
मोहब्बत का गम दिल पे उठाये हुए हैं,
खिलौना समझ कर हमसे ना खेलो,
हम भी उसी खुदा के बनाये हुए है।

किस-किस को तू खुदा बनाएगी, किस-किस की तू हसरतें मिटाएगी,
कितने ही परदे डाल ले गुनाहों पे, बेवफा तू बेवफा ही नजर आएगी।

कितना दर्द है दिल में दिखाया नहीं जाता,
गंभीर है किस्सा सुनाया नहीं जाता,
एक बार जी भर के देख लो इस चहेरे को,
क्योंकि बार-बार कफ़न उठाया नहीं जाता।

कैसी अजीब तुझसे यह जुदाई थी, कि तुझे अलविदा भी ना कह सका,
तेरी सादगी में इतना फरेब था, कि तुझे बेवफा भी न कह सका।

छोड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में,
चल दिए रहने वो औरों की पनाहों में,
शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आई,
तभी तो सिमट गए वो गैर की बाहों में।

ना मिलता गम तो बर्बादी के अफसाने कहाँ जाते,
दुनिया अगर होती चमन तो वीराने कहाँ जाते,
चलो अच्छा हुआ अपनों में कोई ग़ैर तो निकला,
सभी अगर अपने होते तो बेगाने कहाँ जाते।

तेरी हर हकीकत से रूबरू हो गया हूँ मैं,
ये पर्दा किस बात का कर रही है,
एक मैं हूँ कि आँखों से आशू नहीं रुक रहे,
और तू है की हस कर बात कर रही है।

अगर आपको यह Bewafa Shayari in Hindi पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करें! और हमे Facebook और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है..!! धन्यवाद

Spread the love

Leave a Comment