बैकलिंकिंग क्या हैं ,और इसे किस प्रकार किया जाना चाहिए?

Backlink kya hai in hindi :– आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हम जानेंगे बैकलिंकिंग के बारे में जैसे की बैकलिंकिंग क्या हैं  (Backlink kya hai in hindi) और भी बहुत कुछ

बैकलिंकिंग क्या हैं (Backlink kya hai in hindi)

आसान शब्दों मैं कहा जाए तो बैकलिंकिग का मतलब हैं यह है की इंटरनेट पर जितनी भी वेबसाइट हैं उनमें से आप किसी भी वेबसाइट से अपने वेबसाइट के लिए हाइपर लिंक की मदद से रेफर करते हैं। और उस वेबसाइट से कोई भी यूजर क्लिक करके आपके वेबसाइट पर आता हैं तो इसका मतलब यह हैं की उस वेबसाइट ने आपके वेबसाइट को बैकलिंक दिया है | बैकलिंकिंग ऑफ-पेज SEO मैं आता हैं। इसे एंकर टेक्स्ट भी कहा जाता हैं, यह गूगल मैं किसी भी वेबसाइट या पोस्ट को रैंक करने के लिए एक महत्वपूर्ण विधि मानी जाती हैं। Backlink kya hai आपने जान लिया |

backlink kya hai

बैकलिंक के प्रकार (Types of backlink)

बैकलिंक दो प्रकार की होती हैं

  1. डु फॉलो बैकलिंक ( Do follow):- यह URL फॉर्मेट में होता हैं ,इस तरह की लिंक को क्लीक किया जा सकता हैं और गूगल का क्रौलर ऐसी लिंक पर जाता हैं, और यह मानता हैं की वो वेबसाइट आपकी वेबसाइट को रेफेर कर रहा है
  2. नो फॉलो बैकलिंक (No follow) :- इस प्रकार की टेक्स्ट फॉर्मेट मैं होती हैं और इसे क्लिक नहीं किया जा सकता हैं। गूगल का क्रौलर ऐसी लिंक पर नहीं जा सकता और इसे वह नो फॉलो लिंक मानता हैं।

बैकलिंक बनाने के तरिके कौन-कौन से हैं :-

गेस्ट पोस्ट :– गेस्ट पोस्ट का अर्थ हैं की आप किसी दूसरे के वेबसाइट पर अपने द्वारा लिखा हुआ कंटेंट पोस्ट करना | पहले आपको अपने द्वारा एक लेख लिखना होगा | जिसमे की आपके वेबसाइट की लिंक होना चाहिए, फिर वह पोस्ट आपको वेबसाइट के मालिक को भेजना होगा | आप किसी को अपना आर्टिकल देने से पहले चेक कर ले आपके Niche का वेबसाइट है या नहीं |

गेस्ट पोस्ट करने से पहले इन बातों का रखे ध्यान जैसे :-

  • कही से आर्टिकल कॉपी न करे |
  • जो वेबसाइट गेस्ट पोस्ट को स्वीकार करता है पहले उसका लिस्ट बना ले |
  • आप जिस वेबसाइट पर गेस्ट पोस्ट कर रहे उसका DA, PA, Spam score जरूर चेक कर ले |
  • जिस वेबसाइट का स्पैम स्कोर ज्यादा होगा उससे बैकलिंक न ले | अगर स्पैम स्कोर ज्यादा होगा तो आपके साईट को नुकसान पंहुचा सकता है

पेड पोस्ट (Sponsored) :– यह गेस्ट पोस्ट का ही एक रूप है, जब किसी वेबसाइट का मालिक आपको फ्री गेस्ट पोस्ट के लिए नहीं मानता हैं तो आप उसे पेड पोस्ट का प्रस्ताव दे सकते हैं।

प्रतिद्वंदियों का विश्लेषण :– इसमें आपको यह देखना हैं की आपके प्रतिद्वंदी कहाँ-कहाँ से बैकलिंक लिया है और आपके प्रतिद्वंदी जहाँ-जहाँ बैकलिंक बनाये हो | आप कोशिश वहाँ-वहाँ से आपको भी बैकलिंक मिले |

  • डोमेन स्तर :– इसका अर्थ यह हैं की कौन-सी वेबसाइट बिलकुल आपके कीवर्ड का इस्तेमाल करता है।
  • पेज/पोस्ट स्तर :– आपकी वेबसाइट के किसी विशेष पेज पर जो कीवर्ड हैं उसे और कितने वेबसाइट के पेज पर इस्तेमाल किया जा रहा हैं ।
  • जिस कीवर्ड पर आप काम कर रहे है उस कीवर्ड पर आपके प्रतिद्वंदी कितना बैकलिंक बनाया है |

गेस्ट पोस्ट का अदला-बदली :– यह बहुत ही अच्छा तरीका है, क्यो की ये बिलकुल फ्री है, इसमें आपको बैकलिंक बनाने में बहुत मदद मिल सकता है | सामान्य तौर पर गेस्ट पोस्ट अदला-बदली का अर्थ हैं की आप मुझे गेस्ट पोस्ट दो और मैं आपको गेस्ट पोस्ट दूँगा

बैकलिंक विक्रेता :– बहुत से ऑनलाइन प्लेटफॉर्म हैं जहाँ से आप बैकलिंक ख़रीद सकते हैं जैसे :-

पर यहाँ आपको बहुत प्रकार के बैकलिंक सेलर मिल जायेंगे | लेकिन यहाँ 100% में से 95% सेलर स्पैमी बैकलिंक सेल करते हैं इसलिए आपको उन 5% लोगों को सही से पहचानना होगा।

कुछ बातें जो बैकलिंकिंग करते समय ध्यान में रखे :-

  • अगर आपके वेबसाइट पर बहुत पोस्ट हैं तो सभी पोस्ट के लिए बैकलिंकिंग मत बनाइये | जैसे की आपके वेबसाइट पर 50 पोस्ट हैं तो  80%  पोस्ट के लिए बैकलिंकिंग बनाइये ।
  • एंकर टेक्स्ट में बदलाव लाने की जरुरत हैं, जैसे :- अपने keyword का नाम और कुछ जरूरी कीवर्ड जैसे ( CHECK HERE ,VISIT HERE) इस तरीके से आपको अपना एंकर टेक्स्ट रखना हैं।
  • जब आप अपना लेख लिखे तो 1 या 2 अन्य वेबसाइट की भी लिंक दें |
  • सिर्फ एक ही वेबसाइट से ज्यादा बैकलिंक ना बनाए | एक वेबसाइट से 3 – 4 बैकलिंक ही बनाए।

ये भी पढ़े

अगर आपको ये article पसंद आये तो इसे अपने सभी Friends के साथ social media पर share जरुर करें ताकि आपकी वजह से किसी और की मदद हो सके। Backlink kya hai in hindi

मैं इस पोस्ट से उम्मीद करता हु कि आप अच्छे से समझ गये होंगे कि Backlink kya hai in hindi, अगर आपके मन मे कोई doubts है तो आप हमें Social Media मे पूछ सकते है| High quality backlinks kaise banaye के बारे में

InstagramFacebook

6 thoughts on “बैकलिंकिंग क्या हैं ,और इसे किस प्रकार किया जाना चाहिए?”

  1. Superb post i ever seen . Thanks for sharing this ❤️

    Reply

Leave a Comment